चिडियाओं के संरक्षण के लिए ग्रीनमेन विरल देसाई ने की नई पहल

सुरत : आज कल शहरों में चिडियाओं की संख्या में कमी हो रही है और कई क्षेत्रों में तो ऐसा है कि एक चिडिया भी नजर नहीं आ रही। ऐसे समय में पर्यावरणविद विरल देसाई शहरों में चिडियाओं की संख्या में बढोतरी हो इसके लिए प्रशंसनीय कदम उठाया है, जहां उन्होंने गुजरातभर में कई लोगों को चिडियाओं के चिडियाघर का तोहफा दिया है, जबकि ग्रीन उधना स्टेशन पर भी उन्होंने बडे पैमाने पर चिडियाओं के लिए चिडियाघर, फीडर और पानी की व्यवस्था की है।

गौरतलब है कि विरल देसाई ने उधना स्टेशन के पास इन्डियन रेलवे का पहला अर्बन फोरेस्ट तैयार किया है, जहां उन्होंने 1100 से अधिक नेटिव पौधे लगाए हैं। यह वन में अब कई पक्षियों आवन-जावन करते हो गए हैं, किन्तु वहां अन्य बडे पक्षियों की तुलना में चिडिया कम आती है। जिसे सुलझाते हुए उन्होंने उधना के पास अर्बन फोरेस्ट पर चिडियाओं के लिये चिडियाघर, उनके खुराक के लिए फिडर और पानी की व्यवस्था की है, जिससे चिडिया को खुराक-पानी के लिए अधिक संघर्ष न करना पडे और वह आसानी से बस सके।

इस संदर्भ में उन्होंने कहा कि, हाल के समय में शहरों में चिड़ियाँ की उपस्थिति के संदर्भ में जो आंक आ रहे हैं वह काफी चोंकानेवाले हैं। हमारी इको सिस्टम से लेकर हमारे साहित्य तथा हमारे बचपन की यादों में चिड़ियाँ का अनन्य स्थान है और इसिलिए ही शहरों में चिड़ियाँ की संख्या बढाने की बारे पर मैं काफी गंभीर हुं। हम अगर हमारे घर के आसपास या घर की बाल्कनी – खिड़कियों में चिड़ियाँ के चिडियाघर की व्यवस्था कर देंगे तो जरूर चिड़ियाँ इसमें आएंगी और निर्भयपूर्वक जी सकेंगी, इसके तहत उनकी संख्या में भी बढोतरी होंगी।

आपको बता दे कि इस तरह विरल देसाई ने चारसों से अधिक चिडियाघरों का वितरण किया है और लोगों को चिड़ियाँ के संरक्षण के लिए लोग आगे आए इस तरह की पहल की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Hindi बिज़नस लाइफस्टाइल

ध वेडिंग म्युजियम के लोन्च के साथ लोकडाउन में नए वर्च्युअल वर्ल्ड के दरवाजे खुले

प्रोक्रिएट ब्रान्ड्स एन्ड इवेन्ट्स द्वारा 18 मई, 2020 के रोज इन्टरनेशनल म्युजियम डे के अवसर पर पेज लोन्च किया सूरत : हमारी संस्कृति मुश्किल समय में बाहर लाने का मार्ग बता रही है और मानवी होने की महत्वता समजाती है। वर्च्यअल विश्व ने लोगों को जोड़ने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करने के साथ-साथ हमें मनोरंजन, […]

Read More
Business Hindi

PPE Kit के लिए वरदान बनी गारमेंट कटिंग मशीन

सूरत, गुजरात : FASHIONOVA, जिसे इसी साल भारत सरकार द्वारा स्टार्टअप इंडिया की मान्यता प्राप्त हुई, अपने अथक प्रयासों से भारत के टेक्सटाइल क्षेत्र सूरत में पहली गारमेंट कटिंग मशीन की सुविधा उपलब्ध कराई है सर्वव्यापी महामारी के दौरान यह मशीन प्रतिदिन 3000 PPE Kit का उत्पादन करने में सहयोग प्रदान कर रही है तथा […]

Read More
Hindi Press Release

पशुओं के लिए व्यवस्था करने की मांग

सूरत,गुजरात : शहर में कई संस्थाएं कार्य कर रही है। पशु भी आपने समाज का एक हिस्सा है। हाल के समय में पशुओं पर भी ध्यान देने की जरूरत है।  कोरोना के चलते लोग घर में बैठे हुए ।पंछी पक्षों के लिए अपना गुजारा चलाना मुश्किल है। सामाजिक कार्यकर्ता और ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी सदस्य […]

Read More